ICMI School of Banking and Finance

आई सी एम आई स्कूल ऑफ़ बैंकिंग एंड फाइनेंस

MASTER DIPLOMA IN BANKING, FINANCE & HR OPERATIONS ( 2019)

Duration : 12 Month

ICMI School of Banking & Finance offers Master Diploma in Banking, Finance & HR Operations. The objective of this diploma program is to groom candidates for core banking, finance & HR operation jobs.

The Program helps you to prepare for the Diploma in Banking & Finance by IIBF, India’s largest Professional Body of Banks and provide practical exposure in Banking, Finance & HR Operations in a Bank.


Master Diploma in Banking, Finance & HR Operations = Diploma in Banking & Finance (by IIBF) training + Diploma in Banking, Finance & HR Operations + NSE & NISM + MARG ERP 9 Certifications.
*With placement Facility at private finance & Banking sector.

Become an integral part of one of the fastest growing sectors in India
Banking & Financial operations are the two areas that are amongst the fastest growing professions in India. According to a FICCI report on the Indian BFSI industry in 2010, the sector is expected to grow at 15-20 percent CAGR by 2019.
Indian public and private banks are expected to create around 800,000 jobs in the next six years, according to a study by the Associated Chambers of Commerce and Industry (Assocham). This job creation will be mainly on account of expansion of branch network, addition of new banks and retirement of current employees.

Comprehensive Certifications
DB&F Preparation : The program includes comprehensive training for one of the most recognized diploma in the field of banking by IIBF i.e. Diploma in Banking & Finance.
Master Diploma in Banking, Finance & HR Operations: On successful completion of the program, you will be awarded the Master Diploma in Banking, Finance & HR Operations. The Diploma will give you an edge in the job market.

Who can do this program
Any undergraduate or graduate who is aspiring to get into Govt. or Private Banking or Financial Operations.
Eligibility criteria : 10+2 or equivalent.

Examination : At the end of course term and will be announced separately.

Program Fee :
(Excluding examination fee for DBF/NISM/NSE / MARG ERP 9 and will be paid separately at the time of exam registration):
Master Diploma : DBF+DBFHO+ 4 NSE /NISM + MARG ERP 9 Certification : Regular Mode (From Monday to Friday) with DBF Support classes and Four NSE & NISM Certifications : Rs. 69,000/- (Rs. Fifty Nine Thousand) including books and study material. Payable in three instalments.

How is this program job oriented?
Recruiters of banking companies give preference to candidates who have a Professional Qualification with some hands-on experience. This program not only trains you for the Banking, Finance & HR Operations along with the Diploma in Banking and Finance but also gives you a reasonable amount of hands-on experience. Moreover, at the end of the program you will be awarded with the Advance/Master Diploma in Banking, Finance & HR operations which are in great demand by Banking Industry.


Additional Benefits of DBF from IIBF
On the completion of the program, candidates CVs are shared with 700 institutional member banks/ FIs / KPOs for hiring.
Candidate CVs, along with photo, are displayed on the IIBF website for potential recruiters.
To get a call for an operations interview by banks.
Indian Banking Association has approved DBF as a desirable qualification alongwith other prescribed entry level qualification for recruitment in Bank.

बैंकिंग वित्त एवं एच. आर. संचालन में मास्टर डिप्लोमा (2019)

अवधि: 12 महीने

“ ICMI स्कूल ऑफ बैंकिंग एण्ड फाइनेन्स " बैंकिंग वित्त एवं एच. आर. संचालन में मास्टर डिप्लोमा कोर्स कराता है। इस डिप्लोमा प्रोग्राम का उद्देश्य छात्रों को कोर वित्त एवं एच. आर. संचालन के क्षेत्र में रोजगार के लिए तैयार करना है।

यह प्रोग्राम आपको डिप्लोमा इन बैंकिंग एण्ड फॉइनेन्स (DBF) IIBF (इण्डियन इन्स्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग एण्ड फॉइनेन्स) के द्वारा प्रदान किया जाता है। IIBF भारत में बैंकों की सबसे बड़ी पेशेवर संस्था है जो कि बैंकों में बैंकिंग, वित्त एवं एच. आर. संचालन के लिए व्यवहारिक ज्ञान प्रदान करता है।.


बैंकिंग, वित्त एवं एच. आर. संचालन में मास्टर डिप्लोमा = डिप्लोमा इन बैंकिंग एण्ड फॉइनेन्स ट्रेनिंग (DBF) (द्वारा IIBF) + बैंकिंग, वित्त एवं एच. आर. संचालन में डिप्लोमा + एन.एस.ई. और एन.आई.एस.एम. सर्टिफिकेशन्स (4) + मार्ग ई. आर. पी. 9 सर्टिफिकेशन्स
* निजी वित्तीय क्षेत्र में प्लेसमेंट की सुविधा के साथ

भारत में सबसे तेजी से बढ़ते क्षेत्रों में से एक (बैंकिंग एण्ड फॉइनेन्स) का अभिन्न हिस्सा बनें -
बैंकिंग एवं वित्तीय संचालन ऐसे दो क्षेत्र हैं जो कि भारत में सबसे तेजी से बढ़ते हुए पेशे में से एक है। भारत में 2010 में BFSI (Banking Financial Services & Insurance) उद्योग के बारे में FICCI की रिपोर्ट के अनुसार 2019 तक इस क्षेत्र के 15-20 प्रतिशत सी.ए.जी.आर. बढ़ने की उम्मीद है
एसोसिएटेड चैम्बर्स ऑफ कॉर्मस एण्ड इण्डस्ट्री (ऐसोचैम) के एक अध्ययन के अनुसार भारतीय सार्वजनिक एवं निजी बैंकों के द्वारा अगले छः सालों में लगभग 8 लाख नयी नौकरियां पैदा करने की उम्मीद है। ये नयी नौकरियां बैंक शाखाओं के विस्तार, नये बैंक एवं वर्तमान कर्मचारियों के सेवा-निवृत्ति के कारण उत्पन्न होगी।

व्यापक प्रमाण-पत्र :
DB&F की तैयारी : यह प्रोग्राम बैंकिंग के क्षेत्र में सबसे ज्यादा मान्यता प्राप्त डिप्लोमा (डिप्लोमा इन बैकिंग एण्ड फाइनेन्स) जो कि IIBF के द्वारा प्रदान किया जाता है की व्यापक ट्रेनिंग प्रदान करता है।
बैंकिंग, वित्त एवं एच. आर. संचालन में मास्टर डिप्लोमा : प्रोग्राम के सफलतापूर्वक पूर्ण होने पर आपको बैंकिंग, वित्त एवं एच. आर. संचालन में मास्टर डिप्लोमा प्रदान किया जायेगा। यह डिप्लोमा आपको जॉब मार्केट में अवसर प्रदान करता है।

यह प्रोग्राम कौन कर सकता है ?
कोई भी छात्र जो स्नातक कर रहा हो (Under Graduate) या स्नातकोत्तर करने वाला उम्मीदवार जो कि सरकारी और निजी बैंकों या वित्तीय संचालन के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के इच्छुक हों।

पात्रता: 10+2 या समकक्ष

परीक्षा: पाठ्यक्रम अवधि के उपरान्त और अलग से सूचना दी जायेगी

प्रोग्राम की फीस:
( DBF/ NISM/ NSE/ MARG ERP 9 का परीक्षा शुल्क अतिरिक्त देय होगा एवं परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन के समय अलग से दिया जाएगा):
मास्टर डिप्लोमा: DBF + DBFHO + 4 NSE / NISM + MARG ERP 9 के प्रमाण-पत्र: नियमित रूप से (Monday से Friday) DBF की लॉग टर्म सपोर्ट क्लासेज़ के साथ एवं चार NSE & NISM के सर्टिफिकेशन्स : Rs. 69,000/- (Rs. Sixty Nine Thousand) जिसमें किताबें एवं अध्ययन सामग्री सम्मिलित होगी । फीस का भुगतान तीन किश्तों में किया जायेगा।

किस प्रकार यह प्रोग्राम जॉब ओरियेन्टेड है ?
बैंकिंग कम्पनीज़ के नियोक्ता उन उम्मीदवारों को रोजगार में वरीयता प्रदान करते हैं जिनके पास पेशेवर योग्यता के साथ-साथ व्यवहारिक अनुभव भी हो। यह प्रोग्राम आपको न केवल डिप्लोमा इन बैंकिंग एण्ड फॉइनेन्स (DBF) के साथ बैंकिंग, वित्त एवं एच. आर. संचालन के लिए ट्रेनिंग प्रदान करता है बल्कि आपको उचित मात्रा में व्यवहारिक अनुभव भी प्रदान करता है। इसके अतिरिक्त प्रोग्राम के सफलतापूर्वक पूर्ण होने पर आपको बैंकिंग, वित्त एवं एच. आर. संचालन में एडवान्स डिप्लोमा प्रदान किया जाता है जिसकी बैंकिंग इण्डस्ट्री में सर्वाधिक माँग है।


DBF (From IIBF) के अतिरिक्त लाभ:
प्रोग्राम के सफलतापूर्वक पूर्ण होने के उपरान्त छात्रों का बॉयो-डॉटा 700 संस्थागत सदस्य बैंक/वित्तीय संस्थान/के पी.ओ. के साथ नौकरी के लिए साझा किया जाता है।
छात्रों का बॉयो-डॉटा फोटाग्राफ के साथ IIBF की वैब साइट पर सम्भावित नियोक्ता कम्पनियों के लिए प्रदर्शित किया जाता है।
बैंकों के द्वारा आपरेशन्स की जॉब के लिए इण्टरव्यू कॉल।
DBF को भारतीय बैंकिंग एसोसिएशन (IBA) ने बैंकों में भर्ती के लिए अन्य प्रवेश स्तर की योग्यताओं के साथ-साथ एक वांछनीय योग्यता मंजूर किया है